Gita Press, Gorakhpur

40.00

 

Information
Book code0555
Pages256
Authorसूरदास, Soordas
Languageहिन्दी, Hindi

इस पुस्तक में सूरदास जी के 343 पदों का संग्रह किया गया है। इन पदों में भगवान श्री कृष्ण के बाल, कुमार एवं किशोर स्वरूप की अनुपम छटा, मुरली की मधुरिमा एवं उसके मोहक प्रभाव का बड़ा ही सजीव चित्रण किया गया है।

The book contains a beautiful collection of 343 poems of Soordas Ji. The immortal poems consist of vivid description of unique grandeur of Lord Krishna’s childhood, adolescence and youth along with enchanting grace of divine flute and its effect

Share This

Additional information

Dimensions13.3 × 20.3 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Only logged in customers who have purchased this product may leave a review.